Kuchh Karein Apne Yaar Ki Baatein Naat Lyrics

Kuchh Karein Apne Yaar Ki Baatein Naat Lyrics

 

 

कुछ करें अपने यार की बातें
कुछ दिल-ए-दाग़दार की बातें

हम तो दिल अपना दे ही बैठे हैं
अब ये क्या इख़्तियार की बातें

मैं भी गुज़रा हूँ दौर-ए-उल्फ़त से
मत सुना मुझ को प्यार की बातें

अहल-ए-दिल ही यहाँ नहीं कोई
क्या करें हाल-ए-ज़ार की बातें

पी के जाम-ए-मोहब्बत-ए-जानाँ
अल्लाह अल्लाह ! ख़ुमार की बातें

मर न जाना मता’-ए-दुनिया पर
सुन के तू मालदार की बातें

यूँ न होते असीर-ए-ज़िल्लत तुम
सुनते गर होशियार की बातें

हर घड़ी वज्द में रहे अख़्तर
कीजिए उस दयार की बातें

———————————————

मो’तदिल सुन्नियों की फ़ितरत है
करते हैं चार यार की बातें

फ़ित्ना तफ़्ज़ीलियत का फैला है
चल करें यार-ए-ग़ार की बातें

शायर:
अख़्तर रज़ा ख़ान

ना’त-ख़्वाँ:
ओवैस रज़ा क़ादरी

 

kuchh kare.n apne yaar ki baate.n
kuchh dil-e-daaGdaar ki baate.n

ham to dil apna de hi baiThe hai.n
ab ye kya iKHtiyaar ki baate.n

mai.n bhi guzra hu.n daur-e-ulfat se
mat suna mujh ko pyaar ki baate.n

ahl-e-dil hi nahi.n yahaa.n koi
kya kare.n haal-e-zaar ki baate.n

pee ke jaam-e-mohabbat-e-jaanaa.n
allah allah ! KHumaar ki baate.n

mar na jaana mataa’-e-duniya par
sun ke tu maaldaar ki baate.n

yu.n na hote aseer-e-zillat tum
sunte gar hoshiyaar ki baate.n

har gha.Di wajd me.n rahe aKHtar
kijiye us dayaar ki baate.n

————————–

mo’tdil sunniyo.n ki fitrat hai
karte hai.n chaar yaar ki baate.n

fitna tafzeeliyat ka phaila hai
chal kare.n yaar-e-Gaar ki baate.n

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *