Rehmaten Rab Ki Lutaane Maah-e-Ramzaan Aaya Naat Lyrics

Rehmaten Rab Ki Lutaane Maah-e-Ramzaan Aaya Naat Lyrics

 

माह-ए-गुफ़रान ! माह-ए-गुफ़रान !
माह-ए-गुफ़रान ! माह-ए-रमज़ान !

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ाँ आया
जुर्म-ओ-‘इस्याँ को मिटाने माह-ए-रमज़ाँ आया

माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ आया

‘अशरा-ए-रहमत-ए-बारी ने तजल्ली डाली
होंगे रहमत के बहाने माह-ए-रमज़ाँ आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ाँ आया

माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ आया

कैसी रौनक़ है मसाजिद में बहार आई है
ले के अब दिन ये सुहाने माह-ए-रमज़ाँ आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ाँ आया

माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ आया

आओ ! ए भाईओ आओ ! करो रब को राज़ी
बंदों को रब से मिलाने माह-ए-रमज़ाँ आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ाँ आया

माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ आया

बख़्श दे मुझ को, इलाही ! माह-ए-गुफ़राँ के तुफ़ैल
मग़्फ़िरत सब को दिलाने माह-ए-रमज़ाँ आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ाँ आया

माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ आया

मुझ को आज़ाद जहन्नम से, इलाही ! कर दे
बाग़ जन्नत के दिलाने माह-ए-रमज़ाँ आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ाँ आया

माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ आया

मैंने जो काम ख़ुद हाथों से बिगाड़े अपने
मेरी बिगड़ी को बनाने माह-ए-रमज़ाँ आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ाँ आया

माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ आया

कर लो आपस में तुम, ए भाईयो ! सब रंजिशें दूर
दर्स-ए-ईसार सिखाने माह-ए-रमज़ाँ आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ाँ आया

माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ आया

मग़्फ़िरत का है ये ‘अशरा, मेरी बख़्शिश फ़रमा
जोश रहमत का दिखाने माह-ए-रमज़ाँ आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ाँ आया

माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ आया

‘अशरा आज़ादी-ए-दोज़ख़ का है कर दे आज़ाद
नार-ए-दोज़ख से बचाने माह-ए-रमज़ाँ आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ाँ आया

माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ आया

लाज फ़ानी की तेरे हाथ है, ए रब्ब-ए-करीम !
इस को ठुकराया जहाँ ने माह-ए-रमज़ाँ आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ाँ आया

माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ, माह-ए-रमज़ाँ आया

शायर:
मुहम्मद अश्फ़ाक़ अत्तारी

ना’त-ख़्वाँ:
मुहम्मद अश्फ़ाक़ अत्तारी और मेहमूद अत्तारी

 

maah-e-gufraan ! maah-e-gufraan !
maah-e-gufraan ! maah-e-ramzaan !

rahmate.n rab ki luTaane maah-e-ramzaa.n aaya
jurm-o-‘isyaa.n ko miTaane maah-e-ramzaa.n aaya

maah-e-ramzaa.n, maah-e-ramzaa.n
maah-e-ramzaa.n aaya

‘ashra-e-rahmat-e-baari ne tajalli Daali
honge rahmat ke bahaane maah-e-ramzaa.n aaya

rahmate.n rab ki luTaane maah-e-ramzaa.n aaya

maah-e-ramzaa.n, maah-e-ramzaa.n
maah-e-ramzaa.n aaya

kaisi raunaq hai masaajid me.n bahaar aai hai
le ke ab din ye suhaane maah-e-ramzaa.n aaya

rahmate.n rab ki luTaane maah-e-ramzaa.n aaya

maah-e-ramzaa.n, maah-e-ramzaa.n
maah-e-ramzaa.n aaya

aao ! ai bhaaio aao ! karo rab ko raazi
bando.n ko rab se milaane maah-e-ramzaa.n aaya

rahmate.n rab ki luTaane maah-e-ramzaa.n aaya

maah-e-ramzaa.n, maah-e-ramzaa.n
maah-e-ramzaa.n aaya

baKHsh de mujh ko, ilaahi ! maah-e-gufraa.n ke tufail
maGfirat sab ko dilaane maah-e-ramzaa.n aaya

rahmate.n rab ki luTaane maah-e-ramzaa.n aaya

maah-e-ramzaa.n, maah-e-ramzaa.n
maah-e-ramzaa.n aaya

mujh ko aazaad jahannam se, ilaahi ! kar de
baaG jannat ke dilaane maah-e-ramzaa.n aaya

rahmate.n rab ki luTaane maah-e-ramzaa.n aaya

maah-e-ramzaa.n, maah-e-ramzaa.n
maah-e-ramzaa.n aaya

mai.n ne jo kaam KHud haatho.n se bigaa.De apne
meri big.Di ko banaane maah-e-ramzaa.n aaya

rahmate.n rab ki luTaane maah-e-ramzaa.n aaya

maah-e-ramzaa.n, maah-e-ramzaa.n
maah-e-ramzaa.n aaya

kar lo aapas me.n tum, ai bhaaio ! sab ranjishe.n door
dars-e-isaar sikhane maah-e-ramzaa.n aaya

rahmate.n rab ki luTaane maah-e-ramzaa.n aaya

maah-e-ramzaa.n, maah-e-ramzaa.n
maah-e-ramzaa.n aaya

maGfirat ka hai ye ‘ashra, meri baKHshish farma
josh rahmat ka dikhaane maah-e-ramzaa.n aaya

rahmate.n rab ki luTaane maah-e-ramzaa.n aaya

maah-e-ramzaa.n, maah-e-ramzaa.n
maah-e-ramzaa.n aaya

‘ashra aazaadi-e-dozaKH ka hai kar de aazaad
naar-e-dozaKH se bachaane maah-e-ramzaa.n aaya

rahmate.n rab ki luTaane maah-e-ramzaa.n aaya

maah-e-ramzaa.n, maah-e-ramzaa.n
maah-e-ramzaa.n aaya

laaj Faani ki tere haath hai, ai rabb-e-kareem !
is ko Thukraaya jahaa.n ne maah-e-ramzaa.n aaya

rahmate.n rab ki luTaane maah-e-ramzaa.n aaya

maah-e-ramzaa.n, maah-e-ramzaa.n
maah-e-ramzaa.n aaya

Leave a Comment