Mera Raza Naqee Ke Ghar Ali Ka Faiz Le Kar Rahnuma Aaya Naat Lyrics

Mera Raza Naqee Ke Ghar Ali Ka Faiz Le Kar Rahnuma Aaya Naat Lyrics

मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा !

जब खुले बाब-ए-रहमत तेरा
क्यूँ न ले नाम उम्मत तेरा
मोहतरम सारे हज़रात में
है लक़ब आ’ला हज़रत तेरा

मेरे रज़ा ! प्यारे रज़ा !
ए इमाम अहमद रज़ा !

मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा !

नक़ी के घर ‘अली का फ़ैज़ ले कर रहनुमा आया
नबी के चाहने वालों का बन कर आसरा आया
विलादत हो गई है दीन-ए-अहमद के मुहाफ़िज़ की
मुबारक हो ! बरेली में इमाम अहमद रज़ा आया

मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा !

‘अरब ने मान रखा है, इमाम-ए-अहल-ए-सुन्नत है
‘अजम ने कह दिया है पैकर-ए-‘इश्क़-ओ-मोहब्बत है
रज़ा के ‘इल्म की तारीफ़ हम छोटों से क्या होगी
बड़ों ने जब कहा कि आ’ला हज़रत आ’ला हज़रत है

मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा !

नबी की शान में कोई अगर ऊँगली उठाएगा
इमाम अहमद रज़ा के वार से वो बच न पाएगा
रज़ा ने उम्र-भर ना’रा लगाया है मदीने का
जो सच्चा है रज़ा के नाम का ना’रा लगाएगा

ए इमाम अहमद रज़ा !

मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा !

इमाम अहमद रज़ा का वो ज़माना याद आता है
ये कैसा ‘इश्क़ है जो ‘अक़्ल के तोते उड़ाता है
नबी के ख़ून की ख़ुश्बू इसे महसूस हो जाए
तो सय्यिद को मुजद्दिद अपने काँधों पर उठाता है

मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा !

बरेली के इमाम अहमद रज़ा का नक़्श-ए-पा देखो
सनद बे-दाग़ हो जाएगी तुम ये आईना देखो
दलीलों में बुख़ारी की हदीसें मुस्कुराती हैं
फ़तावा देखने वालो ! फ़तावा रज़विया देखो

ए इमाम अहमद रज़ा !

मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा !

मदीना इस की मंज़िल है, ये शहरों पर नहीं बिकता
नबी का ज़िक्र करता है, ये महलों पर नहीं बिकता
वो झूटें हैं जो बिक जाते हैं राजाओं के टुकड़ों पर
ये सच्चा है, ये राजाओं के टुकड़ों पर नहीं बिकता

मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा !

यक़ीं है, नूर ! मेरे हक़ में ये इन’आम आएगा
नबी का ज़िक्र करना रोज़-ए-महशर काम आएगा
चलेगी बात जब उर्दू-अदब में ना’त-गोई की
तो पहला नाम आएगा, रज़ा का नाम आएगा

ए इमाम अहमद रज़ा !

मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा ! मेरा रज़ा !

शायर:
ग़ुलाम नूर-ए-मुजस्सम

ना’त-ख़्वाँ:
मुहम्मद अली फ़ैज़ी
ग़ुलाम नूर-ए-मुजस्सम
अहमद-उल-फ़त्ताह
हस्सान रज़ा क़ादरी
तुफ़ैल शम्सी
ज़िया यज़्दानी
महमूद रज़ा क़ादरी


mera raza ! mera raza ! mera raza ! mera raza !

jab khule baab-e-rahmat tera
kyu.n na le naam ummat tera
mohtaram saare hazraat me.n
hai laqab aa’la hazrat tera

mere raza ! pyaare raza !
ai imaam ahmad raza !

mera raza ! mera raza ! mera raza ! mera raza !

naqi ke ghar ‘ali ka faiz le kar rahnuma aaya
nabi ke chaahne waalo.n ka ban kar aasra aaya
wilaadat ho gai hai deen-e-ahmad ke muhafiz ki
mubaarak ho ! bareli me.n imaam ahmad raza aaya

mera raza ! mera raza ! mera raza ! mera raza !

‘arab ne maan rakha hai, imaam-e-ahl-e-sunnat hai
‘ajam ne kah diya hai paikar-e-‘ishq-o-mohabbat hai
raza ke ‘ilm ki taarif ham chhoTo.n se kya hogi
ba.Do.n ne jab kaha ki aa’la hazrat aa’la hazrat hai

mera raza ! mera raza ! mera raza ! mera raza !

nabi ki shaan me.n koi agar ungli uThaaega
imaam ahmad raza ke waar se wo bach na paaega
raza ne umr-bhar naa’ra lagaaya hai madine ka
jo sachcha hai raza ke naam ka naa’ra lagaaega

ai imaam ahmad raza !

mera raza ! mera raza ! mera raza ! mera raza !

imaam ahmad raza ka wo zamaana yaad aata hai
ye kaisa ‘ishq hai jo ‘aql ke tote u.Daata hai
nabi ke KHoon ki KHushboo ise mahsoos ho jaae
to sayyid ko mujaddid apne kaandho.n par uThaata hai

mera raza ! mera raza ! mera raza ! mera raza !

bareli ke imaam ahmad raza ka naqsh-e-paa dekho
sanad be-daaG ho jaaegi tum ye aaina dekho
daleelo.n me.n buKHaari ki hadeese.n muskuraati hai.n
fataawa dekhne waalo ! fataawa razviya dekho

ai imaam ahmad raza !

mera raza ! mera raza ! mera raza ! mera raza !

madina is ki manzil hai, ye shahro.n par nahi.n bikta
nabi ka zikr karta hai, ye mahlo.n par nahi.n bikta
wo jhooTe.n hai.n jo bik jaate hai.n raajaao.n ke tuk.Do.n par
ye sachcha hai, ye raajaao.n ke tuk.Do.n par nahi.n bikta

mera raza ! mera raza ! mera raza ! mera raza !

yaqee.n hai, Noor ! mere haq me.n ye in’aam aaega
nabi ka zikr karna roz-e-mahshar kaam aaega
chalegi baat jab urdu-adab me.n naa’t-goi ki
to pahla naam aaega, raza ka naam aaega

ai imaam ahmad raza !

mera raza ! mera raza ! mera raza ! mera raza !

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *