kash phir se laut aayen sayyadi akhtar raza lyrics

kash phir se laut aayen sayyadi akhtar raza lyrics

 

 

Kash Phir Se Laut Aayen Sayyadi Akhtar Raza Lyrics

 

Hain Ghulamon Ki Sadayen Sayyadi Akhtar Raza

Kash Phir Se Laut Aayen Sayyadi Akhtar Raza

हैं ग़ुलामों की सदाएं सय्यिदी अख़्तर रज़ा

काश फिर से लौट आएं सय्यिदी अख़्तर रज़ा

 

Apke Deedar Se Milta Hai Ankhon Ko Sukoon

Door Ankhon Se Na Jayen Sayyadi Akhtar Raza

आपके दीदार से मिलता है आंखों को सुकूँ

दूर आंखों से ना जाएं सय्यिदी अख़्तर रज़ा

 

Aapke Duniya Se Jane Ka Sama.N Mat Poochhiye

Badli Badli Hain Hawaein Sayyadi Akhtar Raza

आपके दुनिया से जाने का समां मत पूछिए

बदली बदली हैं हवाएं सय्यिदी अख़्तर रज़ा

 

Apka Ik Naam Mere Lab Pe Aa Jane Ke Baad

Door Hain Najdi Balaein Sayyadi Akhtar Raza

आप का इक नाम मेरे लब पे आ जाने के बाद

दूर हैं नज्दी बलायें सय्यिदी अख़्तर रज़ा

 

Iltija Noore Mujassam Ki Yehi Hai Aap Se

Ghause Aazam Se Milayen Sayyadi Akhtar Raza

इलतिजा नूर ए मुजस्सम की ये ही है आपसे

ग़ौसे आज़म से मिलाएं सय्यिदी अख़्तर रज़ा

 

Manqabat Khwan: Ghulam Noore Mujassam

Hain Ghulamon Ki Sadayen Sayyadi Akhtar Raza in hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *