Wo Mera Raza Naat Lyrics

Wo Mera Raza Naat Lyrics

 

फ़ैज़-ए-रज़ा जारी रहेगा
फ़ैज़-ए-रज़ा जारी रहेगा

मेरा रज़ा, प्यारा रज़ा, सोहणा रज़ा, मुर्शिद रज़ा
मेरा रज़ा, प्यारा रज़ा, सोहणा रज़ा, मुर्शिद रज़ा

आला हज़रत
वो मेरा रज़ा मुर्शिद मुर्शिद
वो मेरा रज़ा प्यारा प्यारा
वो मेरा रज़ा, वो मेरा रज़ा, वो मेरा रज़ा, वो मेरा रज़ा, वो मेरा रज़ा

पंज साल से पहले क़ुरआन पढ़ा
छह साल के थे तो ख़िताब किया
बचपन में था जिस ने फ़तवा दिया
ग़ालिब थे जिस पे शर्म-ओ-हया
क्या बात करूं ! क्या हाफ़िज़ा था !
इक माह में हिफ़्ज़-ए-क़ुरआन किया
था अरब-ओ-अजम ने मान लिया
कि उलूम-ओ-फुंनून का है दरिया

आला हज़रत
वो मेरा रज़ा मुर्शिद मुर्शिद
वो मेरा रज़ा प्यारा प्यारा
वो मेरा रज़ा, वो मेरा रज़ा, वो मेरा रज़ा, वो मेरा रज़ा, वो मेरा रज़ा

अहल-ए-सुन्नत को बख़्शी ज़िया
है जाम जो इश्क़-ए-नबी का पिया
भर भर के है तू ने वो जाम दिया
सुन्नत को है ज़िंदा फिर से किया
है फ़तावा-ए-रज़विय्या दिया
और तर्जुमा है क़ुरआं का किया
हर लम्हा ज़िक्र है उन का किया
हक़ ने भी तेरा चर्चा किया

आला हज़रत
वो मेरा रज़ा मुर्शिद मुर्शिद
वो मेरा रज़ा प्यारा प्यारा
वो मेरा रज़ा, वो मेरा रज़ा, वो मेरा रज़ा, वो मेरा रज़ा, वो मेरा रज़ा

है इल्म-ओ-ज़ोहद का तू दरिया
तेरी हर अदा सुन्नत है शहा
हम को है ऐसा जज़्बा दिया
ऐसा प्यारा मुर्शिद है रज़ा
महजूर है तेरे दर का गदा
क़दमों में रखना इस को सदा
अत्तार के मैं सदक़े जाऊं
जिस ने तुझ तक पहुंचा है दिया

आला हज़रत
वो मेरा रज़ा मुर्शिद मुर्शिद
वो मेरा रज़ा प्यारा प्यारा
वो मेरा रज़ा, वो मेरा रज़ा, वो मेरा रज़ा, वो मेरा रज़ा, वो मेरा रज़ा

मेरा रज़ा, प्यारा रज़ा, सोहणा रज़ा, मुर्शिद रज़ा
मेरा रज़ा, प्यारा रज़ा, सोहणा रज़ा, मुर्शिद रज़ा

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *