Fakhr-e-Millat Laaiq-e-Sad-Ehtiraam Ahmad Raza Naat Lyrics

Fakhr-e-Millat Laaiq-e-Sad-Ehtiraam Ahmad Raza Naat Lyrics

 

 

फ़ख़्र-ए-मिल्लत, लाइक़-ए-सद-एहतिराम अहमद रज़ा
मुहतशम, बालिग़-नज़र, ‘आली-मक़ाम अहमद रज़ा

फ़ख़्र-ए-मिल्लत, लाइक़-ए-सद-एहतिराम अहमद रज़ा

नाम की तासीर से मिल जाएगा ‘इश्क़-ए-रसूल
देख लो रख कर किसी बच्चे का नाम अहमद रज़ा

फ़ख़्र-ए-मिल्लत, लाइक़-ए-सद-एहतिराम अहमद रज़ा

कितनी सदियाँ चाहिए जिस काम की तकमील को
कर चुके थोड़े से ‘अर्से में वो काम अहमद रज़ा

फ़ख़्र-ए-मिल्लत, लाइक़-ए-सद-एहतिराम अहमद रज़ा

छा गया तेरा सलाम-ए-जान-ए-रहमत हर तरफ़
तेरी रूह-ए-पाक पर लाखों सलाम, अहमद रज़ा !

फ़ख़्र-ए-मिल्लत, लाइक़-ए-सद-एहतिराम अहमद रज़ा

तय किया आख़िर ये अर्बाब-ए-नज़र ने, ए नसीर !
तर्जुमान-ए-अहल-ए-सुन्नत हैं इमाम अहमद रज़ा

फ़ख़्र-ए-मिल्लत, लाइक़-ए-सद-एहतिराम अहमद रज़ा

शायर:
पीर नसीरुद्दीन नसीर

नात-ख़्वाँ:
असद रज़ा अत्तारी
हाफ़िज़ ग़ुलाम मुस्तफ़ा क़ादरी
साजिद क़ादरी

 

faKHr-e-millat, laaiq-e-sad-ehtiraam ahmad raza
muhtasham, baaliG-nazar, ‘aali-maqaam ahmad raza

faKHr-e-millat, laaiq-e-sad-ehtiraam ahmad raza

naam ki taaseer se mil jaaega ‘ishq-e-rasool
dekh lo rakh kar kisi bachche ka naam ahmad raza

faKHr-e-millat, laaiq-e-sad-ehtiraam ahmad raza

kitni sadiyaa.n chaahiye jis kaam ki takmeel ko
kar chuke tho.De se ‘arse me.n wo kaam ahmad raza

faKHr-e-millat, laaiq-e-sad-ehtiraam ahmad raza

chha gaya tera salaam-e-jaan-e-rahmat har taraf
teri rooh-e-paak par laakho.n salaam, ahmad raza !

faKHr-e-millat, laaiq-e-sad-ehtiraam ahmad raza

tay kiya aaKHir ye arbaab-e-nazar ne, ai Naseer !
tarjumaan-e-ahl-e-sunnat hai.n imaam ahmad raza

faKHr-e-millat, laaiq-e-sad-ehtiraam ahmad raza

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *