Dame Iztirab Mujhko Jo Khayal e Naat Lyrics

 

 

Dame Iztirab Mujhko Jo Khayal e Yaar Owais Raza Qadri

Dame Iztirab Mujhko Jo Khayal e Naat Lyrics

दमे इज़तिराब जो मुझको ख्याल ए यार आए

Naat Khwan: Owais Raza Qadri
Shayar:

Dame Iztirab Mujhko Jo Khayal e Yaar Aye
Mere Dil Me Chain Aye To Usey Qarar Aye

दमे इज़तिराब मुझको जो ख़याल ए यार आए
मेरे दिल में चैन आए तो उसे क़रार आए

 

Teri Bahshaton Se Ae Dil Mujhe Kyon Na Aar Aye
Tu Unhi Se Door Bhage Jinhe Tujh Pe Pyar Aye

तेरी बहश्तों से ऐ दिल मुझे क्यूँ ना आर आए
तू उन्हीं से दूर भागे जिन्हें तुझ पे प्यार आए

 

Na Habib Se Muhib Ka Kahin Aisa Pyar Dekha
Wo bane Khuda Ka Pyara Tumhe Jis Pe Pyar Aye
न हबीब से मुहिब का कहीं ऐसा प्यार देखा
वोह बने ख़ुदा का प्यारा तुम्हें जिस पे प्यार आए

Mujhe Kya Alam Ho Gham Ka, Mujhe Kya Ho Gham Alam Ka
Ke Ilaaj-e Gham-Alam Ka Mere Ghamgusar Aye

मुझे क्या अलम हो ग़म का, मुझे क्या हो ग़म अलम का
के इलाज-ए ग़म अलम का मेरे ग़मगुसार आये

 

Sabab-e-Uboor-e-Rahmat Meri Be-Zabaniyan Hain
Na Fughañ Ke Dhang Janu Na Mujhe Pukar Aye

सबब ए उबूर-ए-रह़मत मेरी बे ज़बानियां हैं
न फुगां के ढंग जानूं न मुझे पुकार आए

 

(Ala Hazrat Farmate Hain)
{Be Mange Dene Wale Ki Rahmat Me Gharq Hain
Mange Se Jo Mile Kise Faham Us Qadar Ki Hai

बे मांगे देने वाले की रह़मत में गर्क़ हैं
मांगे से जो मिले किसे फ़हम उस कद़र की है}

 

Teri Rahmaton Se Kam Hain Mere Zurm Is se Zaayid
Na Mujhe Hisab Aye Na Mujhe Shumar Aye

तेरी रहमतों से कम हैं मेरे ज़ुर्म, इससे ज़ाइद
न मुझे हिसाब आए न मुझे शुमार आए

 

Woh Kareem Hain, Ke Sarwar! Ke Likha Hua Hai Dar Par
Jise Lene Hon Do Alam Woh Ummidwar Aye

वोह करीम हैं, के सरवर! के लिखा हुआ है दर पर
जिसे लेने हों दो आलम वोह उम्मीदवार आए

 

Tere Sadqe Jaaye Shaha Ye Tera Zaleel Mangta
Tere Dar Pe Bheek Lene Sabhi Shahr-yaar Aye

तेरे सदक़े जाए शाहा ये तेरा ज़लील मंगता
तेरे दर पे भीक लेने सभी शहरयार आए

 

Tere Sadqe Tera Sadqa Hai Wo Shandar Sadqa
Wo Waqar Leke Jaye Jo Zalil-o-Khwar Aye

तेरे सदक़े तेरा सदक़ा है वो शानदार सदक़ा
वो वक़ार लेके जाए जो ज़लील-ओ-ख़्वार आए

 

Tere Dar Ke Hain Bhikari Mile Khair Dam Qadam Ki
Tera Naam Sunke Data Ham Ummidwar Aye

तेरे दर के हैं भिकारी मिले ख़ैर दम क़दम की
तेरा नाम सुनके दाता हम उम्मीदवार आए

 

Hasan Unka Naam Lekar Tu Pukaar Dekh Gham Me
Ke Yeh Woh Nahin Jo Ghafil Pase Intizar Aye

हसन उनका नाम लेकर तू पुकार देख ग़म में
के ये वोह नहीं जो ग़ाफिल पसे इन्तिज़ार आए

 

By sulta