Ashaab-e-Mustafa Mein Hai Pyaare Muaawiya Naat Lyrics

Ashaab-e-Mustafa Mein Hai Pyaare Muaawiya Naat Lyrics

 

 

असहाब-ए-मुस्तफ़ा में हैं प्यारे मु’आविया
सरकार के दुलारे हैं प्यारे मु’आविया

हम ने तो देखनी है फ़क़त निस्बत-ए-नबी
है उन के क़ुर्ब वालों में नाम-ए-मु’आविया

असहाब-ए-मुस्तफ़ा में हैं प्यारे मु’आविया
सरकार के दुलारे हैं प्यारे मु’आविया

हाथों में उन के हाथ न देते कभी हसन
इक भी न ठीक होता जो काम-ए-मु’आविया

असहाब-ए-मुस्तफ़ा में हैं प्यारे मु’आविया
सरकार के दुलारे हैं प्यारे मु’आविया

मौला ‘अली ने जाना न उन को कभी बुरा
वो भी अदब से लेते थे नाम-ए-मु’आविया

असहाब-ए-मुस्तफ़ा में हैं प्यारे मु’आविया
सरकार के दुलारे हैं प्यारे मु’आविया

निकली है उन की मद्ह ज़बान-ए-हुज़ूर से
है किस क़दर बुलंद मक़ाम-ए-मु’आविया

असहाब-ए-मुस्तफ़ा में हैं प्यारे मु’आविया
सरकार के दुलारे हैं प्यारे मु’आविया

ये है रज़ा का फ़ैज़ कि राशिद के हाथ में
हुब्ब-ए-‘अली की मय भी है जाम-ए-मु’आविया

असहाब-ए-मुस्तफ़ा में हैं प्यारे मु’आविया
सरकार के दुलारे हैं प्यारे मु’आविया

नात-ख़्वाँ:
नूर आलम अत्तारी

 

ashaab-e-mustafa me.n hai.n pyaare mu’aawiya
sarkaar ke dulaare hai.n pyaare mu’aawiya

ham ne to dekhni hai faqat nisbat-e-nabi
hai un ke qurb waalo.n me.n naam-e-mu’aawiya

ashaab-e-mustafa me.n hai.n pyaare mu’aawiya
sarkaar ke dulaare hai.n pyaare mu’aawiya

haatho.n me.n un ke haath na dete kabhi hasan
ik bhi na Theek hota jo kaam-e-mu’aawiya

ashaab-e-mustafa me.n hai.n pyaare mu’aawiya
sarkaar ke dulaare hai.n pyaare mu’aawiya

maula ‘ali ne jaana na un ko kabhi bura
wo bhi adab se lete the naam-e-mu’aawiya

ashaab-e-mustafa me.n hai.n pyaare mu’aawiya
sarkaar ke dulaare hai.n pyaare mu’aawiya

nikli hai un ki mad.h zabaan-e-huzoor se
hai kis qadar buland maqaam-e-mu’aawiya

ashaab-e-mustafa me.n hai.n pyaare mu’aawiya
sarkaar ke dulaare hai.n pyaare mu’aawiya

ye hai raza ka faiz ki Raashid ke haath me.n
hubb-e-‘ali ki mai bhi hai jaam-e-mu’aawiya

ashaab-e-mustafa me.n hai.n pyaare mu’aawiya
sarkaar ke dulaare hai.n pyaare mu’aawiya

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *