Tere rutba e karam ko kya samajh sake lyrics

 

Tere rutba e karam ko kya samajh sake zaman lyrics
तेरे रुत्बा ए करम क्या समझ सके ज़माना

 

तेरे रुत्बा ए करम क्या समझ सके ज़माना
ये करम है मुस्त़फा का तेरा नूरी है घराना
Tere rutba e karam ko kya samajh sake zaman
Ye karam hai mustafa ka teri noori hai gharana

 

तेरा रुप क़ादिरियत तेरा रंग है शराफ़त
तेरी बू नबी की निस्बत तेरी ख़ू है आरिफ़ाना
Tera roop qadriyat tera rung hai sharafat
Teri boo nabi ki nisbat teri khoi hai aarifana

 

तेरा हर क़दम ह़सन है तू अक़ीदतो का गुलशन
तेरी ज़ात इल्म व दानिश ब-निगाहे आलिमाना
Tera har qadam hasan hai tu aqidato ka gulshan
Teri zaat ilm wa danish ba-nigahe aalimana

 

तू दीवाना मुस्त़फा का तू है शैदा मुर्तज़ा का
तू फ़रीफ़्ता ह़सन का तेरा वस्फ़ आशिकाना
Tu diwana mustafa ka tu shaida murtaza ka
Tu farifta hasan ka teri wasf ashikana

 

Hindi and english naat lyrics
Hindi and english naat lyrics

By sulta