Tag: क़िस्मत मेरी चमकाईये

क़िस्मत मेरी चमकाईये

क़िस्मत मेरी चमकाईये   क़िस्मत मेरी चमकाईये, चमकाईये आक़ा मुझको भी दरे-पाक पे बुलवाईये आक़ा वो मदीना जो कोनैन का ताज है जिस का दीदार मोमिन की मेअराज है ज़िन्दगी…