ए इश्के नबी मेरे दिल में भी समा जाना

ए इश्के नबी मेरे दिल में भी समा जाना ए इश्के नबी मेरे दिल में भी समा जाना मुझक भी मुहम्मद का दीवाना बना जाना ए इश्क नबी मेरे दिल में भी समा जाना जो रंग के जामी ओर रूमी पे चड़ाया था उस रंग की कुछ रंगत मुझ पे भी चड़ा जाना ए इश्क …

ए इश्के नबी मेरे दिल में भी समा जाना Read More »