Tag: उमंगें जोश पर आईं

उमंगें जोश पर आईं, इरादे गुदगुदाते हैं

उमंगें जोश पर आईं, इरादे गुदगुदाते हैं उमंगें जोश पर आईं, इरादे गुदगुदाते हैं जमीले-क़ादरी शायद हबीबे-हक़ बुलाते हैं जगा देते हैं क़िस्मत चाहते हैं जिस की दम भर में वो…