Sahri Ho Hamari Makke Me Naat Lyrics

 

Taqdeer Hamari Jaye Sawar

Ae Mere Khuda, Ae Mere Khuda

Ik Baar Karun Taiba Ka Safar

Ae Mere Khuda, Ae Mere Khuda

 

Galiyon Me Madine Ki Jaun

Aur Ja Kar Unme Kho Jaun

Apni Na Rahe Koi Bhi Khabar

Ae Mere Khuda, Ae Mere Khuda

 

Sahri Ho Hamari Makke Me

Iftaar Hamara Madine Me

Aise Ho Mayassar Sham-O-Sahar

Ae Mere Khuda, Ae Mere Khuda

 

Jab Pyaas Ki Shiddat Ho Lab Par

Us Waqt Karam Ho Ye Ham Par

Aaqa Se Piyen Jaam-E-Kausar

Ae Mere Khuda, Ae Mere Khuda

 

Main Naat Padhun Aur Naat Likhun

Aaqa Ke Hasin Kirdar Likhun

Ta-Umr Rahe Baaqi Ye Hunar

Ae Mere Khuda, Ae Mere Khuda

 

 

Naat Khwan: Faheem Pihanvi

Ramzan Sahrif Se Mutalliq Kalam

Sahri Ho Hamari Makke Me Naat Lyrics Hindi
तक़दीर हमारी जाये सवर

ऐ मेरे ख़ुदा, ऐ मेरे ख़ुदा

इक बार करूँ तैबा का सफ़र

ऐ मेरे ख़ुदा, ऐ मेरे ख़ुदा

 

गलियों में मदीने की जाऊं

और जाकर उनमे खो जाऊँ

अपनी ना रहे कोई भी खबर

ऐ मेरे ख़ुदा, ऐ मेरे ख़ुदा

 

सहरी हो हमारी मक्के में

इफ़्तार हमारा मदीने में

ऐसा हो मयस्सर शाम-ओ-सहर

ऐ मेरे ख़ुदा, ऐ मेरे ख़ुदा

 

जब प्यास की शिद्दत हो लब पर

उस वक़्त करम हो ये हम पर

आक़ा से पिएं जाम-ए-कौसर

ऐ मेरे ख़ुदा, ऐ मेरे ख़ुदा

 

मैं नात पढ़ूं और नात लिखूं

आक़ा के हसीं किरदार लिखूं

ता-उम्र रहे बाकी ये हुनर

ऐ मेरे ख़ुदा, ऐ मेरे ख़ुदा

By sulta