Pahan Ke Taje Laulak Dekho Lyrics

 

Pahan Ke Taje Laulak Dekho, Rasooloñ Ka Wo Imaam Aaya Qawwali Lyrics in Hindi and English

पहन के ताज ए लौलाक देखो – राहत फतेह अली ख़ान

Qawwal: Ustad Rahat Fateh Ali Khan

Madni Taajdar Aa Gaya

मदनी ताजदार आ गया

Sayyade abrar Aa Gaya

सय्यद ए अबरार आ गया

Sab Durood Padho Salle Ala

सब दुरुद पढ़ो सल्ले अ़ला

Nabiyoñ Ka Sardar Aa Gaya

नबियों का सरदार आ गया

 

Pahen Ke Taje Laulak Dekho

Rasooloñ Ka Wo Imaam Aaya

पहन के ताज ए लौलाक देखो

रसूलों का वो इमाम आया

 

Wajd me Aa Gaya Hai Zamana

Gooñj Utha Fiza Mein Taraana

वज्द में आ गया है ज़माना

गूंज उठा फिज़ा में तराना

 

Rasooloñ Ka Wo Imaam Aaya

रसूलों का वो इमाम आया

 

Ab Har Qadam Par Milenge Sahaare

Muntazir Jiske The Gham Ke Maare

अब हर क़दम पर मिलेंगे सहारे

मुन्तज़िर जिसके थे ग़म के मारे

 

Rasooloñ Ka Wo Imaam Aaya

रसूलों का वो इमाम आया

 

Zulmat Se Ye Kahde, Ke Ab Dere Utha Le

Phaileñge Har Taraf Ab Ujaale

ज़ुल्मत से ये कहदे, के अब डेरे उठा ले

फैलेंगे हर तरफ अब उजाले

 

Kyuñ Ke, Rasooloñ Ka Wo Imaam Aaya

क्यों के, रसूलों का वो इमाम आया

 

Ghareeboñ Ki Bigdi Banane Ki Khatir

Diya, Deen o Haq Ka Jalaane Ki Khatir

ग़रीबों की बिगड़ी बनाने की ख़ातिर

दिया, दीन ओ हक़ का जलाने की खातिर

 

Rasooloñ Ka Wo Imaam Aaya

रसूलों का वो इमाम आया

 

Utheñ Chaaroñ Taraf, Rahmatoñ Ki Ghataayeñ

Moa’ttar Moa’ttar Haiñ Saari Fizaayeiñ

उठें चारों तरफ, रहमतों की घटाएं

मोअ़त्तर मोअत्तर हैं सारी फिजाएं

 

Rasooloñ Ka Wo Imaam Aaya

रसूलों का वो इमाम आया

 

Sargam/सरगम

 

Rasooloñ Ka Wo Imaam Aaya

रसूलों का वो इमाम आया

 

Pahan Ke Taje Laulak Dekho

Rasooloñ Ka Wo Imaam Aaya

पहन के ताज ए लौलाक देखो

रसूलों का वो इमाम आया

 

Nabi Pe Bheja Durood Jisne

Khuda Ka Usko Salaam Aaya

नबी पे भेजा दुरुद जिसने

ख़ुदा का उसको सलाम आया

 

Kareñ Malaayak Bhi Naaz Jin Par

Khuda Bhi Bheje Durood Jin Par

Wo Ek Mere Nabi Hain Jin Par

Khuda Ka A’ali Kalaam Aaya

करें मलाय क भी नाज़ जिन पर

ख़ुदा भी भेजे दुरूद जिन पर

वो एक मेरे नबी हैं जिन पर

ख़ुदा का आ़ली कलाम आय

 

Huzur Mushkil Kusha Hain Sab Ke

हुज़ूर मुश्किल कुशा हैं सब के

 

Ai Saahib e Kashti, Fikr Na Kar

Sarkar Madad Ko Aayeñge

ऐ साहिबे कश्ती फ़िक्र न कर

सरकार मदद को आएंगे

 

Huzur Mushkil Kusha Haiñ Sab Ke

हुज़ूर मुश्किल कुशा हैं सब के

 

Huzur Mushkil Kusha Haiñ Sab Ke

Huzur Haajat Rawa Haiñ Sabke

Kiya Mohammad Ko Yaad Humne

Jahañ Bhi Mushkil Maqaam Aaya

हुज़ूर मुश्किल कुशा हैं सब के

हुज़ूर हाजत रवा हैं सब के

किया मोहम्मद को याद हमने

जहां भी मुश्किल मक़ाम आया

 

Jahañ Hai Joodo Karam Ki Baarish

Wo Dar Jahañ Me Huzur Ka Hai

Jhuka Ke Nazreñ, Phailaao Daman

Adab Ka Aala Maqaam Aaya

जहां है जूदो करम की बारिश

वो दर जहां में हुज़ूर का है

झुका के नज़रें, फैलाओ दामन

अदब का आला मकाम आया

 

Rasool e Haq, Mere Mustafa, Ne

Lutaaye Rahmat Ke Haiñ Khazane

Mite Andhere Hua Ujaala

Jahañ Mohammad Ka Naam Aaya

रसूल ए हक़, मेरे मुस्तफा ने

लुटाए रहमत के हैं खज़ाने

मिटे अंधेरे हुआ उजाला

जहां मुहम्मद का नाम आया।

 

Sargam/सरगम

 

Pahan Ke Taje Laulak Dekho

Rasooloñ Ka Wo Imaam Aaya

पहन के ताज ए लौलक देखो

रसूलों का वो इमाम आया

 

By sulta