Nabi Ke Naam Ka Jalsa Sajana Kya Kehna Naat Lyrics

 

नबी के नाम का जलसा सजाना क्या कहना
इश्क़ ए सरकार में दौलत लुटाना क्या कहना

 

तेरे क़दमों के बराबर हमारा सर भी नहीं
मेरे शब्बीर तेरा सर कटाना क्या कहना

 

चांद सूरज ये सितारे नबी नबी बोले
दोनों आलम के नज़ारे नबी नबी बोले

 

मेरे सरकार का चर्चा कहां-कहां पे नहीं
सारे क़ुरआन के पारे नबी नबी बोले

 

सबकी बिगड़ी हुई तक़दीर बनाने वाला
हम ग़रीबों को कलेजे से लगाने वाला

 

वो कोई और नहीं आमना का बेटा है
हम गुनहगार को दोज़ख़ से बचाने वाला

 

दुआ ए मां के लिए घर से जो भी चलता है
हो चाहे जितनी भी मुश्किल वो बच निकलता है

 

करे जो मां का अदब और मां को खुश रक्खे
ज़मीं पे रह के भी जन्नत में वो टहलता है

 

Nabi Ke Naam Ka Jalsa Sajana Kya Kehna
Ishq e Sarkar Me Daulat Lutana Kya Kahna

 

Tere Qadmon Ke Barabar Hamara Sar Bhi Nahin
Mere Shabbir Tera Sar Katana Kya Kahna

 

Chand Suraj Ye Sitare Nabi Nabi Bole
Dono Aalam Ke Nazare Nabi Nabi Bole

 

Mere Sarkar Ka Charcha Kaha Kaha Pe Nahi
Sare Quran Ke Paare Nabi Nabi Bole

 

Sabki Bigdi Hui Taqdeer Banane Wala
Ham Gharibon Ko Kaleje Se Lagane Wala

 

Wo Koi Aur Nahi Aamna Ka Beta Hai
Ham Gunahgaron Ko Dozakh Se Bachane Wala

 

Dua e Maa Ke Liye Ghar Se Jo Bhi Chalta hai
Ho Chahen Jitni Bhi Mushkil Wo Bach Nikalta hai

 

Kare Jo Maa Ka Adab Aur Maa Ko Khush Rakkhe
Zamin Pe Rah Ke Bhi Jannat Me Wo Tahalta Hai

By sulta