Na Pehlay Tha Koi Na Ab Hai Na Hoga Lyrics

 

Na Pehlay Tha Koi Na Ab Hai Na Hoga

न पहले था कोई न अब है न होगा

Naat Khwan: Faizan Qadri

Mustafa mustafa mustafa

मुस्त़फ़ा मुस्त़फ़ा मुस्त़फ़ा

 

Fire Zamane Me Char Janib Nighar Yakta Tumhi Ko Dekha
Haseen Dekhe Jameel Dekhe Par Ek Tumsa Tumhi Ko Dekha

फिरे ज़माने में चार जानिब निग़ार यक़्ता तुम्हीं को देखा
हसीन देखे जमील देखे पर एक तुमसा तुम्ही को देखा

 

Nabi Sayyadul Ambiya Ke Barabar
Na Pehlay Tha Koi Na Ab Hai Na Hoga
Muhammad Ka Sani Muhammad Ka Hamsar

Pehlay Tha Koi Na Ab Hai Na Hoga
Na.. Pehlay Tha Koi Na Ab Hai Na Hoga

नबी सय्यदुल अम्बिया के बराबर
न पहले था कोई न अब है न होगा
मुह़म्मद का सानी मुह़म्मद का हमसर

पहले था कोई न अब है न होगा
न .. पहले था कोई न अब है न होगा

 

Faqat Sirf Ek Zaat Allah Ki Hai
Jo Zaat e Muhammad Se Aala Hai Warna
Muhammad Se Aala Muhammad Se Badhkar

Pehlay Tha Koi Na Ab Hai Na Hoga
Na .. Pehlay Tha Koi Na Ab Hai Na Hoga

फ़क़त सिर्फ़ इक ज़ात अल्लाह की है
जो ज़ात-ए-मुह़म्मद से आला है वरना
मुह़म्मद से आला मुह़म्मद से बढ़कर

पहले था कोई न अब है न होगा
न .. पहले था कोई न अब है न होगा

 

Sada Ishq Bhi Tu
Sadi Jaan Bhi tu
Sada Dil Bhi Tu, Dildar Bhi Tu
Kul Nabiya.n Da Sultan Bhi Tu
Naal Arsha.n Da Mehman Bhi Tu
Maiñ Mukdi Gall Muka Dewa
Sada Deen Bhi Tu, Iman Bhi Tu

साडा इ़श्क़ भी तू
साडी जान भी तू
साडा दिल भी तू, दिलदार भी तू
कुल नबियां दा सुल्तान भी तू
नाल अ़र्शां दा महमान भी तू
मैं मुखदी गल्ल मुका देवा
साडा दीन भी तू ईमान भी तू

 

The Rutbe Me Pahle Par Aakhir Me Aaye
Bashar Unke Rutbe Pe Qurban Jaye
Muhammad Sa Afzal Muhammad Sa Aakhir

Pehlay Tha Koi Na Ab Hai Na Hoga
Na .. Pehlay Tha Koi Na Ab Hai Na Hoga

थे रुत़बे में पहले पर आख़िर में आये
बशर उनके रुत़बे पे क़ुर्बान जाये
मुह़म्मद सा अफ़ज़ल मुह़म्मद सा आख़िर

पहले था कोई न अब है न होगा
न .. पहले था कोई न अब है न होगा

 

Mul Laiñdi na Yusuf Noo Khud Aap Hee Bik Jaandi
Tak Laiñdi Zulaikha Je Tasveer Muhammad Di

मुल लैंदी न युसुफ़ नू खुद आप ही बिक जान्दी
तक लैंदी ज़ुलैख़ा जे तस्वीर मुह़म्मद दी

 

Zulaikha Thi Jis Par Fida Jaan o Dil Se
Wo Yusuf bahut Khoobsurat the Lekin
Rukhe Mustafa Se Hasin Roo e Anwar

Pehley Tha Koi Na Ab Hai Na Hoga
Na .. Pehley Tha Koi Na Ab Hai Na Hoga

ज़ुलैख़ा थी जिस पर फ़िदा जान ओ दिल से
वो युसुफ़ बहुत खूबसूरत थे लेकिन
रुखे मुस्त़फ़ा से हसीं रु-ए-अनवर

पहले था कोई न अब है न होगा
न .. पहले था कोई न अब है न होगा

 

Nabi Sarey Mahboob Hain Kibriya Ke
Magar Ye Bhi Sach Hai Bajuz Mustafa Ke
Habib e Khuda Dono Aalam Ka Dilbar

Pehley Tha Koi Na Ab Hai Na Hoga
Na .. Pehle Tha Koi Na Ab Hai Na Hoga

नबी सारे महबूब हैं किबरिया के
मगर ये भी सच है बजुज़ मुस्त़फ़ा के
हबीब-ए-ख़ुदा दोनों आ़लम का दिलबर

पहले था कोई न अब है न होगा
न .. पहले था कोई न अब है न होगा

 

Badhaai Me Purnam wo Baad Az khud Hain
Shahe Ambiya Hain Shahe Dosara Hain
Bashar Unke Rutbe Ka Allah Ho Akbar

Pehle Tha Koi Na Ab Hai Na Hoga
Na .. Pehle Tha Koi Na Ab Hai Na Hoga

बढ़ाई में पुरनम वो बाद अज़ ख़ुदा हैं
शहे अम्बिया हैं शहे दोसरा हैं
बशर उनके रुत़बे का अल्लाह हो अकबर

पहले था कोई न अब है न होगा
न .. पहले था कोई न अब है न होगा

 

Mustafa-Mustafa, Mustafa-Mustafa
Mustafa-Mustafa, Mustafa-Mustafa

मुस्त़फ़ा-मुस्त़फ़ा, मुस्त़फ़ा-मुस्त़फ़ा
मुस्त़फ़ा-मुस्त़फ़ा, मुस्त़फ़ा-मुस्त़फ़ा

By sulta