Na Daulat Na Shohrat Ko Pane Ki Khatir Naat Lyrics

 

Na Daulat Na Shohrat Ko Pane Ki Khatir

Padhun Naat Rab Ko Manane Ki Khatir

ना दौलत ना शोहरत को पाने की ख़ातिर

पढ़ूँ नात रब को मनाने की ख़ातिर

 

Shab o Roz Rab Se Dua Kar Raha Hun

Dare Mustafa Par Main Jaane Ki Khatir

शबो रोज़ रब से दुआ कर रहा हूँ

दरे मुस्त़फ़ा पर मैं जाने की ख़ातिर

 

Gaye Karbala Me Hussain Ibne Haider

Shari’at Nabi Ki Bachane Ki Khatir

गए कर्बला में हुसैन इब्ने हैदर

शरीअ़त नबी की बचाने की ख़ातिर

 

Mujhe Hashr Ka Koi Khatra Nahin Hai

Wo Aa Jayenge Bakhshwane Ki Khatir

मुझे हश्र का कोई ख़तरा नहीं है

वो आ जाएंगे बख़्शवाने की ख़ातिर

 

Saleem Aayenge Wo Ba-Roz-E-Qayamat

Hame Rab Se Jannat Dilane Ki Khatir

सलीम आएंगे वो बरोज़े कयामत

हमें रब से जन्नत दिलाने की ख़ातिर

 

Na Daulat Na Shohrat Ko Pane Ki Khatir

Padhun Naat Rab Ko Manane Ki Khatir

ना दौलत ना शोहरत को पाने की ख़ातिर

पढ़ूँ नात रब को मनाने की ख़ातिर

 

By sulta