Mil kar Milad Manayenge Lyrics

Naat Khwan: Sajid Qadri

 

सल्ले अ़ला नबी-ए-ना सल्ले अ़ला मुह़म्मदिन
वा-अला आले ही वा-असहाबे ही वसल्लिम

ये जश्ने मुह़म्मद तो सदा जारी रहेगा
मीलाद रहा है, मीलाद रहेगा

मैं भी सुन्नी तू भी सुन्नी मिलकर मीलाद मनाएं
मीलाद रहा है, मीलाद रहेगा

 

ये इश्क़ ए सहाबा है इसे ज़िन्दा रखेंगे
सरकार का मीलाद सदा करते रहेंगे
ये जश्न-ए-मुसर्रत तो सदा जारी रहेगा
मीलाद रहा है सदा, मीलाद रहेगा

मीलाद रहा है, मीलाद रहेगा
मीलाद रहा है, मीलाद रहेगा

मैं भी सुन्नी तू भी सुन्नी, मिलकर मीलाद मनाएं
मीलाद रहा है इंशाअल्लाह
मीलाद रहेगा इंशाअल्लाह

मरहबा या मुस्तफ़ा मरहबा या मुस्तफ़ा

 

इस्लाम का पैग़ाम सदा ज़िन्दा रहेगा
सरकार तेरा नाम सदा ज़िन्दा रहेगा
जब तक रहेंगे दुनिया में उश्शाक़ सलामत
मीलाद का ये काम सदा ज़िन्दा रहेगा

मीलाद रहा है, मीलाद रहेगा
मीलाद रहा है, मीलाद रहेगा

मैं भी सुन्नी तू भी सुन्नी मिलकर मीलाद मनाएं
मीलाद रहा है इंशाअल्लाह
मीलाद रहेगा इंशाअल्लाह

 

वो हिन्द में ख्वाजा के सभी चाहने वाले
या पाक वतन में मेरे दाता के दीवाने

रावी है कण्डे मेरा दाता डेरा लाया
मैं सदके दाता तों मैं सदके दाता तों
जिन्ना लौर नू आंण बसाया
या पाक वतन में मेरे दाता के दीवाने

मीलाद ही पहचान है उश्शाक़-ए-नबी की
जा ढूंढ ले हर देश के हर नस्ल-ओ-जबां के

मीलाद रहा है, मीलाद रहेगा
मीलाद रहा है, मीलाद रहेगा

मैं भी सुन्नी तू भी सुन्नी मिलकर मीलाद मनाएं
मीलाद रहा है इंशाअल्लाह
मीलाद रहेगा इंशाअल्लाह

 

नामूस-ए-सहाबा के अलम दार रहेंगे
अज़वाज-ए-मुकद्दस के नमक ख़्वार रहेंगे
हमसे ना होंगी बैअ़तें दस्ते यज़ीद पर
हम आल-ए-मुह़म्मद के वफ़ादार रहेंगे

मीलाद रहा है, मीलाद रहेगा
मीलाद रहा है, मीलाद रहेगा

मैं भी सुन्नी तू भी सुन्नी मिलकर मीलाद मनाएं
मीलाद रहा है इंशाअल्लाह
मीलाद रहेगा इंशाअल्लाह

मरहबा या मुस्तफ़ा मरहबा या मुस्तफ़ा

 

हर सिम्त मुह़म्मद की मोहब्बत का समां है
दीवानगी है इश्क़ो अक़ीदत का समां है
जैसे किसी ने फ़र्श पर टांके हों सितारे
ऐसा है चराग़ां, लगे जन्नत का समां है

मीलाद रहा है, मीलाद रहेगा
मीलाद रहा है, मीलाद रहेगा

मैं भी सुन्नी तू भी सुन्नी, मिलकर मीलाद मनाएं
मीलाद रहा है इंशाअल्लाह
मीलाद रहेगा इंशाअल्लाह

मरहबा मरहबा

 

तुम सोए हुए अपने मुक़द्दर को जगाना
तुम अपने नबी पाक से यूं प्यार बढ़ाना
मां बाप भी हो साथ तो बच्चे भी साथ हों
तुम बारहवी की रात मदीने में मनाना

मीलाद रहा है, मीलाद रहेगा
मीलाद रहा है, मीलाद रहेगा

मैं भी सुन्नी तू भी सुन्नी मिलकर मीलाद मनाएं
मीलाद रहा है इंशाअल्लाह
मीलाद रहेगा इंशाअल्लाह

मीलाद, मीलाद, मीलाद रहेगा

 

सरकार-ए-मदीना के तलबगार हुए हैं
हम उनकी मोह़ब्बत में गिरिफ्तार हुए हैं
मीलाद के आने से बदल जाता है सब कुछ
फूलों से उजागर मेरे बाज़ार सजे हैं

मीलाद रहा है, मीलाद रहेगा
मीलाद रहा है, मीलाद रहेगा

मैं भी सुन्नी तू भी सुन्नी मिलकर मीलाद मनाएं
मीलाद रहा है इंशाअल्लाह
मीलाद रहेगा इंशाअल्लाह

मिलकर-मीलाद-मनायेंगे-नात

By sulta