Mere nabi pyare nabi sunnat teri duniya o deen lyrics

 

मेरे नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनिया ओ दीन

Naat Khwan: Junaid jamshed

 

Mere nabi pyaare nabi sunnat teri duniya o deen
Aye nabi pyaare nabi sunnat teri duniya o deen
Tu hee shafa’at ki ama.n ae rahmatullil alamin

 

Aye nabi pyaare nabi sunnat teri duniya o deen
Koi nahin tujh sa nahin ae rahmatullil alamin

 

Aye nabi pyaare nabi sunnat teri duniya o deen

Aye nabi, Aye nabi, Aye nabi

 

Tere dar par aaye jo daman ko bhar le jaye jo
Un jaliyon ki shan kya ek nazar ham par bhi ho

 

Aye nabi pyaare nabi sunnat teri duniya o deen
Aye nabi pyaare nabi sunnat teri duniya o deen
Tu hee shafa’at ki ama.n ae rahmatullil alamin

 

Aye nabi pyaare nabi sunnat teri duniya o deen
Koi nahin tujh sa nahin ae rahmatullil alamin

Aye nabi, Aye nabi, Aye nabi

 

Baade saba unko bata is dard ki hai kya dawa
Main to mareez e ishq hun degi shafa unki ata

 

Aye nabi pyare nabi …
Mere nabi pyare nabi sunnat teri duniya o deen

Aye nabi pyare nabi …
Tu hee shafa’at ki ama.n ae rahmatullil alamin

 

Aye nabi pyare nabi sunnat teri duniya o deen
Koi nahin tujh sa nahin ae rahmatullil alamin

 

Aye nabi pyare nabi sunnat teri duniya o deen

Aye nabi, Aye nabi, Aye nabi

 

Dekh le mujhko zara tere dar pe hun khada
Tere ishq me rahun raat din meri hai bas ye dua

 

Aye nabi pyare nabi sunnat teri duniya o deen
Mere nabi pyare nabi sunnat teri duniya o deen
Tu hee shafa’at ki ama.n ae rahmatullil alamin

 

Aye nabi pyare nabi sunnat teri duniya o deen
Koi nahin tujh sa nahin ae rahmatullil alamin

 

मेरे नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनिया ओ दीन
ऐ नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनिया ओ दीन
तू ही शफ़ाअत की अमां ऐ रहमतुललिल आलमीन

 

ऐ नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनिया ओ दीन
कोई नहीं तुझसा नहीं रहमतुललिल आलमीन

 

ऐ नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनिया ओ दीन
ऐ नबी, ऐ नबी, ऐ नबी

 

तेरे दर पर आए जो दामन को भर ले जाए जो
उन जालियों की शान क्या इक नज़र हम पर भी हो

 

ऐ नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनिया ओ दीन
ऐ नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनिया ओ दीन
तू ही शफ़ाअत की अमां ऐ रहमतुललिल आलमीन

 

ऐ नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनिया ओ दीन
कोई नहीं तुझसा नहीं ऐ रहमतुललिल आलमीन

ऐ नबी, ऐ नबी, ऐ नबी

 

वादे सबा उनको बता इस दर्द की है क्या दवा
मैं तो मरीज़ ए इश्क़ हूं देगी शफ़ा उनकी अत़ा

 

ऐ नबी प्यारे नबी …
मेरे नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनिया ओ दीन

ऐ नबी प्यारे नबी …
तू ही शफ़ाअत की अमां ऐ रहमतुललिल आलमीन

 

ऐ नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनिया ओ दीन
कोई नहीं तुझसा नहीं ऐ रहमतुललिल आलमीन
ऐ नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनिया ओ दीन

ऐ नबी, ऐ नबी, ऐ नबी

 

देख ले मुझको ज़रा तेरे दर पर हूं खड़ा
तेरे इश्क़ में रहूं रात दिन मेरी है बस यही दुआ

 

ऐ नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनिया ओ दीन
कोई नहीं तुझसा नहीं ऐ रहमतुललिल आलमीन

By sulta