Mere Gyarveen Wale Peer Ghaus e Aazam Dastagheer – Hindi Lyrics

मेरे ग्यारवीं वाले पीर, ग़ौस-ए-आज़म दस्तग़ीर
Mere Gyarveen Wale Peer Ghaus e Aazam Dastagheer
मुश्किल पड़े तो याद करो दस्तग़ीर को
बग़दाद वाले हज़रते पीराने-पीर को
या ग़ौस अल मदद, या ग़ौस अल मदद
या जीलानी शैअल-लिल्लाह, या जीलानी शैअल-लिल्लाह
ख़ुदा के फ़ज़्ल से हम पर है साया ग़ौसे-आज़म का
हमें दोनों जहाँ में है सहारा ग़ौसे-आज़म का
ख़ुदा के फ़ज़्ल से हम पर है साया ग़ौसे-आज़म का
ख़ुदा के फ़ज़्ल से हम पर है साया ग़ौसे-आज़म का
या शाहे-जीलां करम है तेरा
मेरे ग्यारवीं वाले पीर, ग़ौस-ए-आज़म दस्तग़ीर
तेरे दर का मैं फ़क़ीर, ग़ौस-ए-आज़म दस्तग़ीर
तेरा रुतबा बे-नज़ीर, ग़ौस-ए-आज़म दस्तग़ीर
मेरी चमका दी तक़दीर, ग़ौस-ए-आज़म दस्तग़ीर
हमारी लाज किस के हाथ है? बग़दाद वाले के
मुसीबत टाल देना काम किस का? ग़ौसे-आज़म का
ख़ुदा के फ़ज़्ल से हम पर है साया ग़ौसे-आज़म का
ख़ुदा के फ़ज़्ल से हम पर है साया ग़ौसे-आज़म का
मुहम्मद का रसूलों में है जैसे मर्तबा आ’ला
है अफ़ज़ल अवलिया में यूँ ही रुतबा ग़ौसे-आज़म का
ख़ुदा के फ़ज़्ल से हम पर है साया ग़ौसे-आज़म का
ख़ुदा के फ़ज़्ल से हम पर है साया ग़ौसे-आज़म का
जनाबे-ग़ौस दूल्हा और बाराती अवलिया होंगे
मज़ा दिखलाएगा महशर में सेहरा ग़ौसे-आज़म का
निदा देगा मुनादी हश्र में यूँ क़ादरीयों को
किधर हैं क़ादरी कर लें नज़ारा ग़ौसे-आज़म का
मुख़ालिफ़ क्या करे मेरा कि है बेहद करम मुझ पर
ख़ुदा का, रहमतुल-लिल-आलमीं का, ग़ौसे-आज़म का
मेरे ग्यारवीं वाले पीर, ग़ौस-ए-आज़म दस्तग़ीर
तेरे दर का मैं फ़क़ीर, ग़ौस-ए-आज़म दस्तग़ीर
तेरा रुतबा बे-नज़ीर, ग़ौस-ए-आज़म दस्तग़ीर
मेरी चमका दी तक़दीर, ग़ौस-ए-आज़म दस्तग़ीर
जमीले-क़ादरी सो जान से क़ुर्बान मुर्शिद पर
बनाया जिसने मुझ जैसे को बन्दा ग़ौसे-आज़म का
ख़ुदा के फ़ज़्ल से हम पर है साया ग़ौसे-आज़म का
ख़ुदा के फ़ज़्ल से हम पर है साया ग़ौसे-आज़म का
 
 

By sulta