Mere Dil Ki Satah Par Hai Qadam Zahra Ke Bachchon Ka Hindi Lyrics

मेरे दिल की सतह पर है क़दम ज़हरा के बच्चों का
मेरी नस्लों पे है दस्त-ए-करम ज़हरा के बच्चों का
मेरे दिल की सतह पर है क़दम ज़हरा के बच्चों का
ज़माने का कोई भी रंज उसे रुस्वा नहीं करता
सुकूनत पाले जिस सीने में ग़म ज़हरा के बच्चों का

मेरे दिल की सतह पर है क़दम ज़हरा के बच्चों का
ख़ुदा के फ़ज़ल से इज़्न-ए-ज़ियारत का शरफ़ पाया
ज़हे क़िस्मत मैं देख आया हरम ज़हरा के बच्चों का
मेरे दिल की सतह पर है क़दम ज़हरा के बच्चों का
हज़ारों कोशिशें कर ली ज़माने ने झुकाने की
मुझे झुकने नहीं देता भरम ज़हरा के बच्चों का
मेरे दिल की सतह पर है क़दम ज़हरा के बच्चों का
गुलिस्तान-ए-पयम्बर का हर एक गुल है गुल-ए-तनवीर
मुमासिल ही नहीं, रब की क़सम ! ज़हरा के बच्चों का
मेरे दिल की सतह पर है क़दम ज़हरा के बच्चों का

मेरी नस्लों पे है दस्त-ए-करम ज़हरा के बच्चों का
शायर:
तनवीर चिश्ती
नातख्वां:
मिलाद रज़ा क़ादरी

By sulta