Mera Dil Bhi Madinah hai Lyrics

 

Nabi ki yaad se roushani

mere dil ka ngina hai !!

Wo mere dil me rahte hain

mera dil bhi madina hai !!

 

Nazar afroz hain ranginiyan

firdaus ki lekin !!

Jo taskeen-e-dilon jaan hai

wo aaqa ka madina !!

 

Wo mere dil me rahte hain

mera dil bhi madina hai !!

 

Jhukoon kyun ghair ke dar par

kisi se bheeq kyun maangun !!

Mere daman me ishq-e-sarware

deen ka khazina hai !!

 

Wo mere dil me rahte hain

mera dil bhi madina hai !!

 

Mahak hai dono aalam me

Muhammad ke pasine ki !!

Muhammad ka pasina hai !!

 

Wo mere dil me rahte hain

mera dil bhi madina hai !!

 

Nabi ki aal ka sadqa

jahan ki nematen mango !!

Khuda se maangne ka ye

bada achha qarina hai !!

 

Wo mere dil me rahte hain

mera dil bhi madina hai !!

 

Hamen khatra nahin koyi

niyazi doob jane ka !!

Ke ham jisme hain baithe wo

Muhammad ka safina hai !!

 

Wo mere dil me rahte hain

mera dil bhi madina hai !!

mera dil bhi madinah hai naat lyrics
Mera Dil Bhi Madinah Hai Lyrics
Mera Dil Bhi Madinah hai Lyrics Hindi

नबी की याद से रौशन मेरे दिल का नगीना है

वो मेरे दिल में रहते हैं मेरे दिल भी मदीना है

 

नज़र अफ़रोज़ हैं रंगीनियां फ़िरदौस की लेकिन

जो तस्कीन-ए-दिल-ओ-जां है वो आक़ा का मदीना है

वो मेरे दिल में रहते हैं मेरे दिल भी मदीना है

 

झुकूं क्यूँ ग़ैर के दर पर किसी से भीक़ क्यूँ मांगूं

मेरे दामन में इ़श्क़े सरवर-ए-दीं का ख़ज़ीना है

वो मेरे दिल में रहते हैं मेरे दिल भी मदीना है

 

महक है दोनों आलम में मुह़म्मद के पसीने की

के वज्हे निकहत-ए-आलम मुह़म्मद का पसीना है

वो मेरे दिल में रहते हैं मेरे दिल भी मदीना है

 

नबी की आल का सदक़ा जहां की नेमतें मांगो

ख़ुदा से मांगने का ये बड़ा अच्छा क़रीना है

वो मेरे दिल में रहते हैं मेरे दिल भी मदीना है

 

हमें खतरा नहीं कोई नियाज़ी डूब जाने का

कि हम जिस में हैं बैठे वो मुह़म्मद का सफ़ीना है

वो मेरे दिल में रहते हैं मेरे दिल भी मदीना है

By sulta