Kam nahi ye meri khushi zahra Lyrics

 

 

Kam nahi ye meri khushi zahra
Mujh pe teri ata huyi zahra

कम नहीं ये मेरी खुशी ज़हरा
मुझ पे तेरी अत़ा हुई ज़हरा

 

Hain muyssar hamen jo barah charagh
Un charaghon ki roushani zahra

हैं मुयस्सर हमें जो बारह चराग़
उन चराग़ों की रौशनी ज़हरा

 

Mujh pe teri ata huyi zahra
Kam nahi ye meri khushi zahra

मुझ पे तेरी अत़ा हुई ज़हरा
कम नहीं ये मेरी खुशी ज़हरा

 

Choomte hain rasool bhi wo jabi.n
Jo tere dar pe jhuk gayi zahra.

चूमते हैं रसूल भी वो जबीं
जो तेरे दर पे झुक गई ज़हरा

 

Mujh pe teri ata huyi zahra
Kam nahi ye meri khushi zahra.

मुझ पे तेरी अत़ा हुई ज़हरा
कम नहीं ये मेरी खुशी ज़हरा

 

Mujh se tazeem uski kaise ho
Jisne teri nahin suni zahra.

मुझसे ताज़ीम उसकी कैसे हो
जिसने तेरी नहीं सुनी ज़हरा

 

Mujh pe teri ata huyi zahra
Kam nahi ye meri khushi zahra

मुझ पे तेरी अत़ा हुई ज़हरा
कम नहीं ये मेरी खुशी ज़हरा

 

Ho mere lab pe al-madad zahra
Saans jab aaye aakhiri zahra.

हो मेरे लब पे अल-मदद ज़हरा
सांस जब आए आख़री ज़हरा।

 

Mujh pe teri ata huyi zahra
Kam nahi yeh meri khushi zahra

मुझ पे तेरी अत़ा हुई ज़हरा
कम नहीं ये मेरी खुशी ज़हरा

 

Tera maddah hai Jari bibi
Teri karta hai naukari zahra

तेरा मद्दाह है जरी बीबी
तेरी करता है नौकरी ज़हरा।

 

Mujh pe teri ata huyi zahra
Kam nahi yeh meri khushi zahra

मुझ पे तेरी अत़ा हुई ज़हरा
कम नहीं ये मेरी खुशी ज़हरा

By sulta