Jitna Diya Sarkar Ne Mujhko Utni Meri Auqat Nahi Hindi Lyrics

 

जितना दिया सरकार ने मुझको लिरिक्स

 

 

क़ुर्बान मैं उनकी बख़्शिश के
मक़सद भी ज़ुबां पर आया नहीं
बिन मांगे दिया और इतना दिया
दामन में हमारे समाया नहीं

जितना दिया सरकार ने मुझको
इतनी मेरी औकात नहीं
ये तो करम है‌ उनका वर्ना
मुझ में तो ऐसी बात नहीं

जितना दिया सरकार ने मुझको

तू भी वहीं जा जिस दर पे
सबकी बिगड़ी बनती है
एक तेरी तक़दीर बनाना
उनके लिए कुछ बात नहीं

जितना दिया सरकार ने मुझको

इश्क़े शहे बतहा से पहले
मुफ़लिसो ख़स्ता हाल था मैं
नामे मोहम्मद के मैं क़ुरबां
अब वो मेरे हालात नहीं

जितना दिया सरकार ने मुझको

जिक्रे नबी में जो दिन गुजरे
वो दिन सबसे अच्छा है
यादे नबी में रात जो गुज़रे
उस से अच्छी रात नहीं

जितना दिया सरकार ने मुझको

मुनकिर है जो उनकी अ़ता का
वो ये बात बताए तो
कौन है वो जिस के दामन में
उस दर की खै़रात नहीं

जितना दिया सरकार ने मुझको

ग़ौर तो कर सरकार की तुझ पर
कैसी ख़ास इनायत है
कौसर तू है उनका सना ख़्वां
ये मामूली बात नहीं

जितना दिया सरकार ने मुझको

By sulta