Darbaar-e-Madina Sa Darbaar Nahin Milta Hindi Lyrics

दरबार-ए-मदीना सा दरबार नहीं मिलता
सरकार-ए-दो-आलम सा सरकार नहीं मिलता
हर ज़र्रा चमकता है अनवार-ए-इलाही से
तयबा का कोई ज़र्रा बे-कार नहीं मिलता
दरबार-ए-मदीना सा दरबार नहीं मिलता
सरकार-ए-दो-आलम सा सरकार नहीं मिलता
ऐ मिस्र के बाज़ारो ! अच्छे हो बहुत लेकिन
तयबा से हसीँ कोई बाज़ार नहीं मिलता
दरबार-ए-मदीना सा दरबार नहीं मिलता
सरकार-ए-दो-आलम सा सरकार नहीं मिलता
जो गालियाँ सुन कर भी हर इक को दुआएं दे
ढूंढे से भी इक ऐसा किरदार नहीं मिलता
दरबार-ए-मदीना सा दरबार नहीं मिलता
सरकार-ए-दो-आलम सा सरकार नहीं मिलता
नातख्वां:
असद इक़बाल

By sulta