Ab Meri Nigahon Mein Jachta Nahi Koi Lyrics in Hindi

अब मैरी निगाहों में जचता नहीं कोई
जैसे मेरे सरकार है ऐसा नहीं कोई
तुमसा तो हंसी आंखे ने देखा नहीं कोई
ये शाने लताफत हे के साया नहीं कोई
अब मैरी निगाहों में जचता नहीं कोई
ए जरफे नजर देख मगर डेख अदब से
सरकार का जलवा है तमाशा नहीं कोई
अब मैरी निगाहों में जचता नहीं कोई
होता है जहा जीकर मुहम्मद के करम का
इस बज़्म में महरूमें तमन्ना नहीं कोई
अब मैरी निगाहों में जचता नहीं कोई
एजाज ये हासिल हे तो हासिल हे ज़मीं को
अफ्लाक पे तो गुंबदे खजरा नहीं कोई
अब मैरी निगाहों में जचता नहीं कोई
सरकार की रहमत ने मगर खूब नवाजा
ये सच है की खालिद सा निकम्मा नहीं कोई
अब मैरी निगाहों में जचता नहीं कोई

Leave a Reply

Your email address will not be published.