Chaman Chaman Ki Dilkashi Naat Lyrics In Hindi

Chaman Chaman Ki Dilkashi Naat Lyrics In Hindi

 
 
चमन चमन की दिलकशी
गुलो की है वो ताज़घी
है चाँद जिन से शबनमी
वो कहकशा की रोशनी
हवाओं की वो रागिनी
फ़ज़ाओं की वो नागमगी
हवाओं की वो रागिनी
फ़ज़ाओं की वो नागमगी
है कितना प्यारा नाम भी
चोरुस: नबी, नबी, नबी, नबी, जे4
हवाओं की वो रागिनी
फ़ज़ाओं की वो नागमगी
हवाओं की वो रागिनी
फ़ज़ाओं की वो नागमगी
ये आमाडे बहार
वो नूवर की खतार है
फ़ज़ा भी कुश गवार है
हवा भी मुशटवार है (जे2)
ये आमाडे बहार
हवा से मैने जब कहा
ये कौन आगया बता
हवा पुकरती चलीं
चोरुस
हवा से मैने जब कहा
ये कौन आगया बता
हवा पुकरती चलीं
ज़ामी बने ज़मान बने
मकई बने मक्कह बने
चुनी बने चुना बने
वो वाज है कन फाका बने
ज़ामी बने ज़मान बने
मकई बने मक्कह बने
चुनी बने चुना बने
वो वाज है कन फाका बने
कहा है मैने एह खुदा
ये किस के सदक़े में बना
कहा है मैने एह खुदा
ये किस के सदक़े में बना
तो रब ने भी कहा यहीं
कहा मैने एह खुदा
ये किस के सदक़े में बना
कहा मैने एह खुदा
ये किस के सदक़े में बना
तो रब ने भी कहा यहीं
वो हुसने ला जवाब है
वो इश्क़ुए बे मिसाल है
जो वा चरफ़ का इनाम है
नबी का वो विलाड है (जे2)
बदन सो लघ्ते है टिपर
ये टरटारा उते हज़ार
ज़बान पाई ता मगर यही
बदन सो लघ्ते है टिपर
ये टरटारा उते हज़ार
ज़बान पाई ता मगर यही
चले जो क़त्ल को उमर
कहा किसी ने रोके कर
कहा चले और कीदार
मनाज क्यूँ है अर्श पर
चले जो क़त्ल को उमर
कहा किसी ने रोके कर
कहा चले और कीदार
मनाज क्यूँ है अर्श पर
ज़ररा बहें की लो खबर
फिडाह है वो रसूल पर
ज़ररा बहें की लो खबर
फिडाह है वो रसूल पर
वो कहराहि है हर घारी
ज़ररा बहें की लो खबर
फिडाह है वो रसूल पर
वो कहराहि है हर घारी
उमर चले बहें के घर
ये दिल मे सोच सोच कर
उराएँगे हम उन का सर
जो है नबी के दीं पर
उमर चले बहें के घर
ये दिल मे सोच सोच कर
उराएँगे हम उन का सर
जो है नबी के दीं पर
सुना है जब क़ूर’आन को
खुदा के उस बयान को
सुना है जब क़ूर’आन को
खुदा के उस बयान को
उमर ने भी कहाँ यही
सुना है जब क़ूर’आन को
खुदा के उस बयान को
सुना है जब क़ूर’आन को
खुदा के उस बयान को
उमर ने भी कहाँ यही
वो इश्क़ुए का उसूल है
वो सुन्नियत का फूल है
वो एहसबा उसूल ता
के आशिक़ुए रसूल ता
वो इश्क़ुए का उसूल है
वो सुन्नियत का फूल है
वो एहसबा उसूल ता
के आशिक़ुए रसूल ता
रज़ा से मेने जब कहा
यह शान किस ने की आता
रज़ा से मेने जब कहा
यह शान किस ने की आता
रज़ा ने भी कहा यहीं
रज़ा से मेने जब कहा
यह शान किस ने की आता
रज़ा से मेने जब कहा
यह शान किस ने की आता
रज़ा ने भी कहा यहीं.

Chaman Chaman Ki Dilkashi Naat Lyrics In Hindi
Chaman Chaman Ki Dilkashi Naat Lyrics In Hindi

 

Asad Iqbal Kolkattavi Naat Lyrics