Chadar E Fatima Zahra Ko Samajhta Kya Hai Lyrics

 

Nafs Ki Bhook Hai Jannat Ki Tamanna Kya Hai

Unke Bimar Se Poochho Ke Madina Kya Hai!

नफ़्स की भूख है जन्नत की तमन्ना क्या है

उनके बीमार से पूछो की मदीना क्या है !

 

Gumbad E Khazra Hai, Kaaba Hai, Najaf Ashraf Hai

Ye Na Kehna Kabhi Is Dunia Me Rakkha Kya Hai!

गुम्बद-ए-खज़रा है काबा है नजफ़ अशरफ है

ये ना कहना कभी इस दुनिया में रक्खा क्या है !

 

Ek Pallu Me Sama Jayeñge Sab Maah-O-Nujoom

Chadar E Fatima Zahra Ko Samajhta Kya Hai!

एक पल्लू में समा जाएंगे सब माह-ओ-नुजूम

चादर ए फ़ातिमा ज़हरा को समझता क्या है !

 

Maine Jo Manga Wo Aqa Ne Mujhe De Hi Diya

Ye Na Dekha Meri Taqdeer Me Likkha Kya Hai!

मैंने जो मांगा वोह आका ने मुझे दे ही दिया

ये ना देखा मेरी तक़दीर में लिक्खा क्या है !

 

Jitni Jaldi Ho Madine Ki Ziyarat Kar Lo

Zindagi Chhod De Kab Saath Bharosa Kya Hai!

Chadar E Fatima Zahra Ko Samajhta Kya Hai Lyrics

By sulta