Barhwi Manate Hai Lyrics

 

 

Barhwi Manate Hai Lyrics | मुस्तफ़ा की चाहत में बारहवी मनाते हैं

Barhwi Manate Hai Lyrics | मुस्तफ़ा की चाहत में बारहवी मनाते हैं

Naat Khwan: Hafiz Zubair Riyaz
Shayar: Uajagar

Scroll Down For English Lyrics

मरहबा या मुस्तफ़ा ×4

सरकार आये …मुस्त़फ़ा
दिलदार आये ..मुस्त़फ़ा
सरदार आये …मुस्त़फ़ा

मेरे लजपाल आये मुस्त़फ़ा

मुस्तफ़ा की चाहत में बारहवी मनाते हैं
देख लो अक़ीदत से अपने घर सजाते हैं
मुस्तफ़ा की चाहत में बारहवी मनाते हैं

चांद इसकी गोदी में आसमान से उतरा
आमना मुबारक हो क़ुदसी कहने आते हैं

मरहबा या मुस्तफ़ा ×4

मुस्तफ़ा की चाहत में बारहवी मनाते हैं

रौशनी का झुरमुट है चांदनी का डेरा है
खुशबुओं के घेरे हैं महफ़िलें सजाते हैं

सरकार आये मुस्त़फ़ा
दिलदार आये मुस्त़फ़ा
सरदार आये मुस्त़फ़ा

मेरे लजपाल आये मुस्त़फ़ा

मोजिज़े विलादत के जब बयान करते हैं
उस हसीं नज़ारे में दिल भी जगमगाते हैं

मरहबा या मुस्तफ़ा ×4

मुस्तफ़ा की चाहत में बारहवी मनाते हैं

नात उनकी पड़ते हैं बात उनकी करते हैं
सीरत-ए-नबी पढ़कर दुनिया को सुनाते हैं

सरकार आये
दिलदार आये
सरदार आये
मेरे लजपाल आये

उनके हाथों में देखो दीप हैं ह़िदायत के
आ गये उजागर वो नेमतें लुटाते हैं

मरहबा या मुस्तफ़ा ×4

मुस्तफ़ा की चाहत में बारहवी मनाते हैं

मरहबा या मुस्तफ़ा ×4

Marhaba Ya Mustafa ×4

Sarkar Aaye Mustafa
Dildar Aaye Mustafa
Sardar Aaye Mustafa

Mere Lajpaal Aaye Mustafa

Mustafa Ki Chahat Mein Barahavi Manate Hein
Dekh Lo Aqeedat Se Apne Ghar Sajate Hein
Mustafa Ki Chahat Mein Barahavi Manate Hein

Chand Iski Godi Me Aasman Se Utra
Amna Mubarak Ko Qudsi Kahne Aate Hein

Marhaba Ya Mustafa ×4

Mustafa Ki Chahat Mein Barahavi Manate Hein

Roushani Ka Jhurmut Hai Chandni Ka Dera Hai
Khushbuon Ke Ghere Hein Mahfilein Sajate Hein

Sarkar Aaye Mustafa
Dildar Aaye Mustafa
Sardar Aaye Mustafa

Mere Lajpaal Aaye Mustafa

Mojize Wiladat Ke Bayan Kate Hein
Us Hasin Nazare Me Dil Bhi Muskurate Hein

Marhaba Ya Mustafa ×4

Mustafa Ki Chahat Mein Barahavi Manate Hein

Naat Unki Padhte Hein Baat Unki Karte Hein
Seerat-e-Nabi Padhkar Duniya Ko Sunate Hein

Sarkar Aaye
Dildar Aaye
Sardar Aaye

Mere Lajpaal Aaye

Unke Haathon Me Dekho Deep Hein Hidayat Ke
Aa Gaye Ujagar Wo Nematein Lutate Hein

Marhaba Ya Mustafa ×4

Mustafa Ki Chahat Mein Barahavi Manate Hein

Marhaba Ya Mustafa ×4

Barhwi Manate Hai Lyrics in english.

By sulta