Apna Haram Dikha de Dono Jahan Ke Malik Lyrics In Hindi

Apna Haram Dikha de Dono Jahan Ke Malik Lyrics In Hindi

अपना हरम दिखा दे दोनों जहां के मालिक

किस्मत मेरी जगा दे दोनों जहां के मालिक

ए मेरे मौला मौला
मौला मौला मौला

बरसो से आरज़ू है तैबा की आरज़ू है

एक बार ही दिखा दे हर साल ही दिखा दे दोनों जहां के मालिक

ए मेरे मौला मौला
मौला मौला मौला

इश्क़े नबी की खुशबु करयाए जां में रख दे

उल्फत में दिल बसा दे दोनों जहां के मालिक

ए मेरे मौला मौला
मौला मौला मौला

दुनियां व आखिरत के हर गम से तू बरी है

मुजदह मुझे सुनादे दोनों जहां के मालिक

ए मेरे मौला मौला
मौला मौला मौला

ए मेरे मौला मौला
मौला मौला मौला

दुनियां के हर सितम से उकबा के हर अलम से

दामन मेरा छुपा दे दोनों जहां के मालिक

ए मेरे मौला मौला
मौला मौला मौला

ए मेरे मौला मौला
मौला मौला मौला

बैठा नबी के दर जिस दम को ये गदा है

उस दम उसे पनाह दे दोनों जहां के मालिक

Chal Qalam Ab Hamd E Rabb Maqsood Hai   Lyrics

Chalo Diyaar-E-Nabi Ki Jaanib   Lyrics

Chamak Tujhse Paate Hain Sab Paane Waale   Lyrics

Chamka Mahe Noor Ka Hilal   Lyrics

Chand Se Unke Chehre Par Ghesue Mushk Faam Do   Lyrics

Chor Fikr Duniya Ki Chal Madine Chalte Hain   Lyrics

Chumma Rozy Di Jali Nu   Lyrics

Chor Fikr Duniya Ki   Lyrics