Aap Se Kuchh Arz Ke Qabil Kahan Lyrics

 

आपसे कुछ अ़र्ज़ के क़ाबिल कहां

मुझसे नालाइक़ की यह कजमज ज़बां

Aap Se Kuchh Arz Ke Qabil Kahan

Mujhse Nalaiq Ki Yeh Kaj Maj Kahan

 

फिर भी अपने लुत्फ़ से मेरा बयां

सुन ही लीजे ऐ मेरे कुतबे ज़मां

Phir Bhi Apne Lutf Se Mera Bayan

Sun Hee Lije Ae Mere Kutbe Zaman

 

हो इधर चश्में करम पीराने पीर

आस्ताने पर खड़ा है यक फ़क़ीर

Ho Idhar Bhi Chasme Karam Peeraney Peer

Aastane Par Khada Hai Yek Faqeer

 

वास्ता ह़सनैन का सुन लीजिए

मुश्किलें आसान मेरी कीजिए

Wasta Hasnain Ka Sun Lijiye

Mushkilein Aasan Meri Kijiye

 

आपको मौला अली की है क़सम

दूर कर दीजिए मेरे रंजो अलम

Apko Moula Ali Ki Hai Qasam

Door Kar Dijiye Mere Ranjon Alam

 

किससे मांगूं हाथ फैलाऊं कहां

आपके दर के सिवा जाऊँ कहाँ

Kis Se Mangun Hath Failaun Kahan

Apke Dar Ke Siwa Jaun Kahan

 

दामने मक़सद मेरा भर दीजिए

आज तो मेरी ख़ुशी कर दीजिए

Daman E Maqsad Mera Bhar Dijiye

Aaj To Meri Khushi Kar Dijiye

 

काश हो जाए मेरा ऐसा नसीब

आप बुलवायें मुझे अपने क़रीब

Kash Ho Jaye Mera Aisa Naseeb

Aap Bulbayen Mujhe Apne Qarib

 

और कर लें फिर मुझे अपना ग़ुलाम

ख़िदमतें लें मुझसे अपनी सुबहो शाम

Aur Kar Len Phir Mujhe Apna Ghulam

Khidmat E Len Mujhse Apni Subho Shaam

 

ज़िन्दगी मेरी यूं ही जाए गुज़र

आपकी चौखट पे ही रखा हो सर

Zindagi Meri Yun Hee Jaye Guzar

Aapki Choukhat Pe Hee Rakha Ho Sar

 

ख़ात्मा हो आपकी ही याद में

बाद मुर्दन हो लह़द बग़दाद में

Khatma Ho Apki Hee Yaad Me

Baad Mudran Ho Lahad Baghdad Me

 

क्या बताऊं अपने दिल का ह़ाल मैं

फंस गया हूं मैं बड़े जंजाल में

Kya Bataun Apne Dil Ka Haal Mai

Funs Gaya Hoon Mai Bade Janjaal Me

 

शाहे जीलां वक़्त है इमदाद का

दर पे आया हूँ लगा कर आसरा

Shahe Jeelan Waqt Hai Imdaad Ka

Dar Pe Aaya Hun Laga Kar Aasra

 

कुतबे दौरां अब मदद का वक़्त है

बख़्त बरगश्ता है मन्ज़िल सख़्त है

Kutbe Doura Ab Madad Ka Waqt Hai

Bakht Bargashta Hai Manzil Sakht Hai

 

अल-मदद या ग़ौसे आज़म अल-मदद

अल-मदद या कुतबे अकरम अल-मदद

Al Madad Ya Ghouse Azam Al Madad

Al Madad Ya Kutbe Akram Al Madad

 

हर तरफ़ घेरे हैं अशरार व शुरूर

दूर फ़रमां दे उन्हें अब तो हुज़ूर

Har Taraf Ghere Hain Ashrar Wa Shuroor

Door Farma De Unhe Ab To Huzoor

 

नरग़ए आदा में हैं अहले सुनन

दूर कीजे उनसे सब अहले फ़ितन

Nagma E Aada Me Hain Ahle Sunan

Door Kije Unse Sab Ahle Fitan

 

Hindi And English Manqabat Lyrics

Hindi And English Manqabat Lyrics

By sulta