चमक तुझ से पाते हैं सब पाने वाले

 
चमक तुझ से पाते हैं सब पाने वाले
मेरा दिल भी चमका दे चमकाने वाले
बरसता नहीं देख कर अब्रे रह़मत
बदों पर भी बरसा दे बरसाने वाले

मेरा दिल भी चमका दे चमकाने वाले
मदीने के ख़ित्त़े ख़ुदा तुझ को रख्खे
ग़रीबों फ़क़ीरों के ठहराने वाले
मेरा दिल भी चमका दे चमकाने वाले
तू ज़िन्दा है वल्लाह तू ज़िन्दा है वल्लाह
मेरे चश्मे अ़ालम से छुप जाने वाले
मेरा दिल भी चमका दे चमकाने वाले
मैं मुजरिम हूं आक़ा मुझे साथ ले लो
कि रस्ते में हैं जा बजा थाने वाले
मेरा दिल भी चमका दे चमकाने वाले
ह़रम की ज़मीं और क़दम रख के चलना
अरे सर का मौक़अ़ है ओ जाने वाले
मेरा दिल भी चमका दे चमकाने वाले
चल उठ जब्हा फ़रसा हो साक़ी के दर पर
दरे जूद ऐ मेरे मस्ताने वाले
मेरा दिल भी चमका दे चमकाने वाले
तेरा खाएं तेरे ग़ुलामों से उलझें
हैं मुन्किर अ़जब खाने ग़ुर्राने वाले
मेरा दिल भी चमका दे चमकाने वाले
रहेगा यूं ही उन का चरचा रहेगा
पड़े ख़ाक हो जाएं जल जाने वाले
मेरा दिल भी चमका दे चमकाने वाले
अब आई शफ़ाअ़त की साअ़त अब आई
ज़रा चैन ले मेरे घबराने वाल
मेरा दिल भी चमका दे चमकाने वाले
रज़ा नफ़्स दुश्मन है दम में न आना
कहां तुम ने देखे हैं चंदराने वाले
मेरा दिल भी चमका दे चमकाने वाले

Leave a Reply

Your email address will not be published.