अजमेर चल के देखो रुत्बा अली के घर का Lyrics

अजमेर चल के देखो रुत्बा अली के घर का Lyrics

 
अजमेर चल के देखो रुत्बा अली के घर का
ख़्वाजा लूटा रहे है सदका अली के घर का
सागर का पूरा पानी आ जाए सिमट कर
पहुँचा है लेके खादिम कासा अली के घर का ।

हक पर कभी भी बातिल ग़ालिब न रह सकेगा
देखा है करबला में जज़्बा अली के घर का
6 माह के अली भी मैदा में आ गए है
है किस कदर बहादुर बेटा अली के घर का ।